दुष्कर्म पीडि़ता पर बयान बदलने का दबाव, परिवार को बहिष्कृत करने की धमकी

चित्‍तौड़गढ. जिले के कपासन क्षेत्र के पांडोली स्टेशन क्षेत्र की 22 वर्षीय युवती की रिपोर्ट पर पुलिस (Police) ने कुछ लोगों के विरुद्ध धमकाने सहित अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है. पुलिस (Police) के अनुसार क्षेत्र की पीडि़ता ने एसपी के समक्ष परिवाद में बताया कि पांडोली स्टेशन क्षेत्र निवासी 22 वर्षीय सुरेशदास वैष्णव पुत्र रमेशदास ने उसे नशीला पदार्थ खिलाकर दुष्कर्म किया और अश्लील फोटो व वीडियो भी बनाकर ब्लैकमेल किया.

इसकी रिपोर्ट चंदेरिया पुलिस (Police) थाने में दर्ज होने के बाद कपासन थाना पुलिस (Police) ने अनुसंधान कर न्यायालय में चालान पेश किया. रिपोर्ट में पीडि़ता ने बताया कि सुरेश अब उसे बयान बदलने के लिए धमका रहा है. पांच मई को सुरेश और जमनादास ने रात 11 बजे गांव के मंदिर में जाति पंचों के जरिए लोगों को एकत्रित किया. उसके परिवार को मंदिर में बुलाया और कहा कि तुम समझौता कर लो और कोर्ट में बयान बदलो. समझौता कर बयान नहीं बदलोगे तो गांव से बहिष्कृत कर देंगे. सहयोग करने वाले पर भी 11 हजार रुपए जुर्माना लगाएंगे. इधर, कपासन पुलिस (Police) ने पीड़िता के परिवाद पर संबंधित लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. जांच सिंहपुर चौकी प्रभारी इंद्रसिंह के जिम्मे की गई.

The post दुष्कर्म पीडि़ता पर बयान बदलने का दबाव, परिवार को बहिष्कृत करने की धमकी appeared first on .

Please share this news